राधाकिशन दमानी – 7th रिचेस्ट पर्सन ऑफ़ इंडिया Radhakishan Damani – 7th Richest Person of India

Radhakishan-Damani-7th-Richest-Person-of-India
Image Source – Google Image By marketingmind

राधाकिशन दमानी – 7th रिचेस्ट पर्सन ऑफ़ इंडिया

राधाकिशन दमानी Mr. White and White के रूप में जाने जाने जाते है। फोर्ब्स मैगज़ीन के अनुसार $14 .6 बिलियन नेटवर्थ के साथ वह भारत के 7th बड़े अमीर व्यक्ती है। वह स्टॉक मार्केट इन्वेस्टर, स्टॉकब्रोकर, ट्रेडर और D-Mart रिटेल चैन के संस्थापक और प्रमोटर हैं। इंडियन वोरेन बफेट के नाम से जानने जानेवाले मिस्टर राकेश झुनझुनवाला उन्हें अपना गुरु मानते है।

प्रारंभिक जीवन

राधाकिशन दमानी ने मुंबई यूनिवर्सिटी से बी. कॉम. की डिग्री आधे में ही छोड़ दी। उन्होंने अपने करियर की शुरुआत बॉल बेयरिंग में एक व्यापारी के रूप में की थी, जिनका कोई इरादा स्टॉक मार्केट में प्रवेश करने का नहीं था। लेकिन भाग्य में उनके लिए कुछ और था। अपने पिता की मृत्यु के बाद, उन्हें उस व्यवसाय को मज़बूरी में बंद करना पड़ा और वे अपने भाई के साथ स्टॉक ब्रोकिंग के व्यवसाय जुड़ गए, जो उनके पिता से विरासत में मिला था।

राधाकिशन दमानी की शेयर बाजार यात्रा

वह तब 32 वर्ष के थे। उन्हें शेयर मार्केट के बारे में बिल्कुल जानकारी नहीं थी, इसलिए उन्होंने शेयर बाजार में एक सट्टेबाज के रूप में शुरुआत की। कुछ समय के भीतर, उन्हें समझ आया कि ट्रेडिंग करके वह मार्केट से अच्छा पैसा नहीं कमा सकते, और इसलिए, वैल्यू इन्वेस्टर चंद्रकांत संपत से प्रेरणा लेते हुए, उन्होंने लंबे समय के लिए इन्वेस्टमेंट करना शुरू किया। इस तरह उन्होंने 1980-90 के दशक के कई बहुराष्ट्रीय कंपनियों के स्टॉक में 5 से 10 साल से निवेश करके बहुत अच्छा लाभ कमाया और दलाल स्ट्रीट पर वह व्यापारी के साथ वैल्यू इन्वेस्टर के रूप में जानने जाने लगे।

वह उन बहुत कम लोगों में से एक हैं, जिन्होंने हर्षद मेहता स्कैम के वक़्त जब मार्केट पूरी तरह क्रैश हुआ था तब भी शार्ट सेलिंग करके बहुत पैसा कमाया था, जो उस समय आम नहीं था। उन्होंने लम्बी अवधी कई कंपनियों में निवेश किया हुआ है, आज भी उनके पोर्टफोलियो में इंडिया सीमेंट (4 .73% हिस्सेदारी), वीएसटी इंडस्ट्रीज (3.26% हिस्सेदारी), सिम्पलेक्स इंडस्ट्रीज (2.28% हिस्सेदारी), जैस शेयर मौजुद है। उन्होंने वीएसटी इंडस्ट्रीज में 85 रुपये के औसत से निवेश किया और यह वर्तमान में 4300 रुपये पर कारोबार कर रहा है। इसके अलावा, इंडिया सीमेंट ने + 115% का रिटर्न दिया है।

डी-मार्ट की स्थापना

राधाकिशन दमानी लंबे समय से उपभोक्ता रिटेल में रुचि रखते थे। इसलिए शेयर मार्केट में अच्छा मुकाम हासिल करने के बाद भी, 2002 में उन्होंने अचानक मार्केट को छोड़ दिया और खुदका उपभोक्ता रिटेल का उद्योग शुरू करने का फैसला किया। उन्होंने डी-मार्ट का निर्माण किया। D-Mart भारत में हाइपरमार्केट और सुपरमार्केट की एक चैन है। यह व्यापक रूप से एक परिवार की सभी घरेलू जरूरतों को पूरा करने के लिए वन-स्टॉप शॉपिंग डेस्टिनेशन के रूप में जाना जाता है।

मार्च 2017 में,राधाकिशन दमानी ने शेयर बाजार में D-Mart की मूल कंपनी Avenue Supermarts का IPO लाया था कि जो इन्वेस्टर्स के लिए बहुत ही फायदेमंद साबित हुआ। एवेन्यू सुपरमार्ट ने अपने शेयरों को 299 रुपये की कीमत पर पब्लिक को ऑफर किया और ओवर सब्सक्रिप्शन के बाद 604 रुपये पर वह मार्केट में लिस्ट हुआ। वर्तमान में, एवेन्यू सुपरमार्ट्स के शेयर 1930 रुपये पर कारोबार कर रहे हैं। उनकी एवेन्यू सुपरमार्ट्स में 52% हिस्सेदारी है। आज 2019 में पूरे भारत में डी-मार्ट के 191 रिटेल स्टोर्स है और यह इंडस्ट्री में तीसरी सबसे बड़ी कंपनी है।

Please follow and like us:

Leave a Reply