डॉली खन्ना – लेडी विथ मिडास टच Dolly Khanna – lady with Midas touch

Dolly-Khanna-lady-with-Midas-touch
Image Source – Google Image By multibaggerstocks

डॉली खन्ना – लेडी विथ मिडास टच

डॉली खन्ना दलाल स्ट्रीट में एक सफल शेयर निवेशक के रूप में प्रसिद्ध हैं। वह “Lady with Midas touch” के नाम से जानी जाने वाली चेन्नई की एक गृहिणी हैं। आज की तारीख में उनका पोर्टफोलियो 1000 करोड़ से भी ज्यादा है जिसमें कई मल्टी-बैगर शेयर शामिल है। उनके इतने बड़े पोर्टफोलियो के पीछे उनके पती राजीव खन्ना का दिमाग हैं, जिन्होंने शेयर बाजार में निवेश कर इतनी भारी संपत्ति निर्माण की है।

प्रारंभिक जीवन 

राजीव खन्ना ने 1968 में आईआईटी मद्रास से केमिकल इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन किया और वह पूरा होते ही वह जगतजीत इंडस्ट्रीज़ में काम करने लगे। उसके बाद उन्होंने आईसीआई लिमिटेड के एक्सप्लोसिव डिपार्टमेंट में रिसर्च पर्सन के रूप में काम किया लेकिन अपने दिल से, वह हमेशा एक व्यापारी बनना चाहते थे। अपने सपने को आगे बढ़ाने के लिए उन्होंने अपना बिज़नेस शुरू किया। बिज़नेस में उन्हें अच्छी सफलता प्राप्त हुई और 1995 में उनका क्वॉलिटी आइसक्रीम का बिज़नेस हिंदुस्तान यूनिलीवर ने खरीद लिया। अपनी क्वॉलिटी आइसक्रीम यह कंपनी बेचने के बाद जो पैसा मिला उससे उन्होंने 1996 से शेयर बाजार में निवेश करना शुरू किया। साथ में राजीव खन्ना ने अपना मिल्क एंड मिल्क प्रोडक्ट्स बिज़नेस का काम भी चालु रखा। 

शेयर बाजार की यात्रा

शेयर बाजार में निवेश करने के बाद राजीव खन्ना दम्पति का शुरूआती जीवन बहुत ही संघर्षमय रहा। 2000 साल के डॉटकॉम बूम में उन्होंने आईटी सेक्टर में निवेश किया जिसमें उन्हें बहुत ही नुकसान झेलना पड़ा। उनका सबसे बड़ा पहला फायदेमंद निवेश Unitech है, जिसमे उन्हें करीब 25000 % रिटर्न मिला। जब वह साल 2003 में दिल्ली में फ्लैट खरीद रहे थे, तब उन्हें Unitech के बारे में पता चला। इस रियल इस्टेट कंपनी के बारे में पता चलने के बाद उनके मन में इसके प्रति उत्सुकता पैदा हुई और राजीव खन्ना ने कंपनी का विस्तार से अध्ययन करके इसमें निवेश करने का फैसला किया।

साल 2007 में Hawkins Cookers में भी उनको अच्छा खाँसा प्रॉफिट मिला। जो राजीव खन्ना दम्पति का दूसरा सबसे बड़ा फायदेमंद निवेश साबित हुआ। इसके बाद साल 2014 में, उन्होंने नीलकमल के शेयरों में निवेश किया, जो अगले तीन वर्षों में, करीब 900% तक बढ़ गया। इस तरह विम्प्लास्ट और सेरा सेनेटरीवेयर (दो साल में 7 गुना), आरएस सॉफ्टवेयर (दो साल में 4 गुना) और लिबर्टी शूज (तीन महीने में डबल) जैसे कई छोटे कैप स्टॉक में उन्होंने अच्छा प्रॉफिट कमाया। आज भी उनके पोर्टफोलियो में रेन इंडस्ट्री, मणिपुरम फाइनेंस, एनओसीआईएल, थिरुमलाई केमिकल्स आदि जैसे कई मल्टिबैग्गेर्स शेयर शामिल हैं।

निवेश की रणनीति

राजीव खन्ना दम्पति हमेशा घरेलू शेयरों में निवेश करने में रुचि रखते है, वे प्रमुख रूप से उन उत्पादों में निवेश करते हैं जिन्हें अक्सर दैनिक जीवन में देखा या उपयोग किया जाता है। यदि उन्हें कोई उत्पाद या सेवा पसंद आती हैं, तो वे उस कंपनी का विस्तार से अध्ययन करते हैं और उसमें निवेश करते है। वह हमेशा लंबी अवधि के लिए निवेश करने में विश्वास रखते हैं लेकिन अगर कभी उन्हें शार्ट टर्म में अच्छा रिटर्न मिल जाता है तो वह शेयर बेच भी देते है।

1) वह प्रसिद्ध निवेशक पीटर लिंच को फॉलो करते है। खन्ना हमेशा वही खरीदने की सलाह देते हैं जो आप जानते हैं और समझते हैं। निवेश करने से पहले उस कंपनी का विस्तार से अध्ययन करने का सुझाव देते है।

2) वह कहते है  कि निवेशक को हमेशा अपने ज्ञान और तथ्यों पर भरोसा रखना चाहिए। अंदरूनी जानकारी के लिए कभी किसी पर निर्भर नही होंना चाहिए।

3) निवेशक को हमेशा छोटे और मिडकैप शेयरों में निवेश करना चाहिए क्योंकि ऐसे शेयरों की भविष्यकाल में मल्टी-बैगर बनने की संभावना अधिक होती है।

4) एक अच्छे निवेशक को हमेशा जिस उत्पाद या सेवा का हम उपयोग कर रहें है, उसी कंपनी में निवेश करना चाहिए क्योंकि हम बेहतर जानते हैं कि कंपनी बाजार में किस तरह अपना काम कर रही है और वहां पे उसका स्थान क्या है।

Please follow and like us:

Leave a Reply